हमारे बारे में

नमस्ते! “संसाधन” ब्लॉग में आपका स्वागत है.  यहाँ आप समलैंगिकता और उभयलैंगिकता के बारे में विश्वमान्य जानकारी के भरोसेमंद दस्तावेजो का हिंदी अनुवाद पा सकते हैं.

२०११ की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या १२१ करोड़ है। २००१ की जनगणना बताती है कि ४२% भारतीयों की मातृभाषा हिन्दी या हिन्दी से जुडी भाषाएं (बोलियाँ) है। वर्तमान जनसंख्या का ४२% यानि ५०.८ करोड़ लोग। अगर ये माना जाए कि लैंगिकता अल्पसंख्यक (समलैंगिक, उभयलैंगिक, ट्रांसजेंडर, हिजरा, कोती, पंथी या अन्य पहचान) इसके १०% हैं, तो इनकी संख्या ५.१ करोड़ हो जाती है. और विशेष बात यह है कि लैंगिक अल्पसंख्यकों के अलावा २० करोड़ से ज्यादा लोग इनके परिवारों के सदस्य होंगे, जो उनकी लैंगिकता से जुडी समस्याओं से झूंझ रहे होंगे.

इसलिए हिंदी में सामान्य से अलग लैंगिकता के बारे में सटीक वैज्ञानिक जानकारी की जरूरत बहुत अधिक है. इस ब्लॉग पर हिन्दी में अग्रणी संगठनों (जैसे अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन) द्वारा सर्वमान्य और स्वीकार संसाधनों  का अनुवाद किया गया है. इसका उद्देश्य लैंगिकता अल्पसंख्यकों, उनके परिवारों और दोस्तों को सटीक जानकारी प्रदान करना है, ताकि वे अपने आप को बेहतर समझ पाएं और एक व्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक संदर्भ में लैंगिकता  से संबंधित मुद्दों को समझें.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s